Just another WordPress site

पेट्रोल के दाम कम करने के लिए भारत उठा सकता है ये कदम

0 23

नई दिल्ली: पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने आज कहा कि भारत तेल उपभोक्तओं को राहत देने के लिये दुनिया के सबसे तेल उत्पादक देशों सऊदी अरब और अमेरिका पर तेल के दाम में कमी लाने के लिये दबाव देगा। सऊदी अरब के पेट्रोलियम मंत्री खालिद ए अल-फलीह 23-24 फरवरी को जबकि अमेरिका के ऊर्जा मंत्री रिक पेरी 28 फरवरी-एक मार्च को यहां होंगे।

क्रूड के भाव में तेजी

प्रधान ने संवाददाताओं से कहा, ‘हमारा मानना है कि तेल की कीमतें घटनी चाहिए।’ उन्होंने कहा कि उत्पादकों के साथ बैठकों में भारत कच्चे तेल के युक्तिसंगत दाम मौजूदा स्तर से और घटाये जाने पर जोर देगा। उनसे यह पूछा गया था कि आखिर सरकार ने ग्राहकों को राहत देने के लिये 2018-19 के बजट में पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती क्यों नहीं की। उल्लेखनीय है कि ब्रेंट क्रूड का भाव अभी 65.37 डालर प्रति बैरल है। बजट चर्चा के दौरान चिदंबरम के राज्यसभा में दिये गये बयान के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सरकार ने 2014 के अंत और 2016 की शुरूआत में कच्चे तेल के दाम में नरमी से उत्पन्न लाभ लेने का निर्णय किया ताकि मुफ्त एलपीजी कनेक्शन, सड़क और राजगार निर्माण, शिक्षा तथा स्वास्थ्य के लिये कोष उपलब्ध हो सके।

- Advertisement -

पेट्रोल, डीजल पर सरकार की रणनीति

चिदंबरम ने सरकार से पूछा था कि आखिर सरकार ने बजट तैयार करते समय कच्चे तेल के किस भाव को ध्यान में रखा और अंतराष्ट्रीय बाजार में जब दाम उस स्तर से ऊपर जाता है तो क्या वह खुदरा मूल्य बढ़ाएगी या उत्पाद शुल्क में कटौती करेगी।

Comments
Loading...