Just another WordPress site

फाल्गुन मास की गणेश चतुर्थी पर करे धन-संतान संबंधी समस्या का निवारण

0 21

गणेश चतुर्थी। (Falgun Ganesh Chaturthi) भारतीय शास्त्रों में गणेश चतुर्थी का बेहद महत्व है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसर हर माह में 2 चतुर्थी पड़ती है। पूर्णिमा के बाद पड़ने वाली कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी केनाम से जाना जाता है। फरवरी माह में इस बार गणेश चतुर्थी 3 फरवरी (शनिवार) को है। फाल्गुन मास की गणेश चतुर्थी का विशेष महत्व का माना गया है।

हिन्दू शास्त्रों के अनुसार जो भी व्यक्ति गणेश चतुर्थी के दिन विघ्नाहर्त्ता गणेश जी की उपासना करता है, उसके सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। शास्त्रों में धन-संतान की प्राप्ति हेतु भी इस गणेश चतुर्थी का विशेष महत्व है। इस दिन गणेश की विधिवत उपासना करने पर अपार धन एवं उत्तम संतान की प्राप्ति होती है। साथ ही संतान से संबंधित सभी समस्या भी दूर हो जाती है। गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश का विधिवत पूजन करने से जीवन के सभी कष्टों का निवारण होता है। इस दिन भगवान गणेश की पूजा से अपयश और बदनामी के दुर्योग भी नष्ट हो जाते हैं। इतना ही नहीं धन से संबंधित समस्या भी आसानी से दूर होती है।

संतान की प्राप्ति के लिए रात्रि में चन्द्र देव को अर्घ्य देकर गणेश के सामने तिल के तेल का दीपक जलना चाहिए। भगवान गणेश को अपनी उम्र के बराबर तिल का लड्डू समर्पित करना चाहिए। गणेश की मूर्ति के समक्ष ‘ॐ नमो भगवते गजाननाय’ इस मंत्र का 108 बार जाप यदि पति-पत्नी एक साथ करें तो अत्यंत लाभ शीघ्र होगा।

- Advertisement -

Comments
Loading...