Just another WordPress site

14 साल के लडके ने तोडे सारे रिकॉर्ड, जड़े नाबाद 1045 रन

0 11

मुंबई। क्रिकेट के मैदान पर कोई रिकॉर्ड बड़ा या अटूट नहीं होता आज के युवा इस 22 गज की पट्टी पर सब कुछ मुमकिन करने के लिए आतुर रहते हैं। कोई भी स्कोर आज मैदान पर सुरक्षित नहीं है। ऐसा ही एक 14 साल के लड़के ने कर दिखाया है। इस लड़के ने एक स्थानीय क्रिकेट टूर्नामेंट में 1000 से ज्यादा रन ठोके हैं। गावटे के कोच मनीष ने कहा कि इस युवा बल्लेबाज ने कोपारखैरने स्थित यशवंतराव चव्हाण इंग्लिश मीडियम स्कूल मैदान पर टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में यह स्कोर बनाया। बता दें कि गावटे ऐसे मैदान पर खेल रहे थे जिसके लेग साइड की सीमा रेखा 60 से 65 गज है जबकि आफ साइड की 50 गज है।

उसकी पारी में 149 चौके और 67 छक्के शामिल हैं। गावटे के कोच मनीष ने कहा कि इस युवा बल्लेबाज ने कोपारखैरने स्थित यशवंतराव चव्हाण इंग्लिश मीडियम स्कूल मैदान पर टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में यह स्कोर बनाया। वहीं मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के एक सीनियर अधिकार ने कहा कि नवीं मुंबई अंडर-14 शील्ड एससीए के मान्यता प्राप्त नही हैं। हालांकि कोच ने दावा किया है कि टूर्नामेंट में लेदर की गेंद का इस्तेमाल किया गया है और गेंदबाजों ने भी ओवरआर्म गेंदबाजी की थी। गौरतलब है कि महाराष्ट्र के ही प्रवण धनावाड़े ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन से मान्यता प्राप्त भंडारी कप अंडर 16 इंटर कॉलेज टूर्नामेंट में दो साल पहले नाबाद 1009 रन बनाए थें और इसी के साथ उन्होंने 116 साल पुराना रिकॉर्ड भी तोड़ दिया था।

इससे पहले स्कूल क्रिकेट में मुंबई के ही 1009 रन नाबाद बनाकर प्रणव धनावड़े ने तहलका मचाया था। प्रणव ने 16 साल की उम्र में स्कूल क्रिकेट के मैच में नाबाद 1009 रनों (323 गेंदें, 59 छक्के, 129 चौके) की लाजवाब पारी को अंजाम दिया था। दरअसल, नवी मुंबई के एक स्कूल के छात्र ने स्थानीय क्रिकेट टूर्नामेंट में नाबाद 1045 रन बनाए हैं। तनिष्क गावटे नाम के 14 साल के लड़के ने 29 और 30 जनवरी को यह स्कोर बनाया है। हालांकि मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) ने इस बात से साफ इंकार किया है इस टूर्नामेंट के आयोजन की जानकारी उसके पास नहीं थी।

- Advertisement -

Comments
Loading...